Tuesday, March 1, 2011

नया बजट (२०११-२०१२)



(नए बजट में मोबाइल, टी.वी. सस्ते)

रोटी-पानी ना मिलें, तो दुःख की क्या बात ।
मोबाइल सस्ता हुआ, कर जी भरकर बात ।
कर जी भरकर बात, बात से काम चला ले ।
बातों की ही खाते हैं सब ऊपर वाले ।
कह जोशी कवि नहीं भरा हो मन जो अब भी ।
देखो जी भर अब सस्ता एल.सी.डी. टी.वी. ।

२८-२-२०११


पोस्ट पसंद आई तो मित्र बनिए (क्लिक करें)

(c) सर्वाधिकार सुरक्षित - रमेश जोशी । प्रकाशित या प्रकाशनाधीन । Ramesh Joshi. All rights reserved. All material is either published or under publication. Joshi Kavi

1 comment:

Kailash C Sharma said...

बहुत सुन्दर सटीक व्यंग..