Sunday, April 12, 2009

नैनो कार - घर की शोभा


रोटी, पानी, नौकरी ना कुछ भी दरकार ।
लो बाज़ार में आ गई सबसे सस्ती कार ॥
सबसे सस्ती कर, नाम है इसका 'नैनो' ।
तुरत कराओ बुकिंग भाइयो, प्यारी बहनो ॥
कह जोशी कविराय सड़क पर जगह न मिलती ।
खड़ी रहे घर पर तो भी शोभा बढ़ती ॥

२४ मार्च २००९

पोस्ट पसंद आई तो मित्र बनिए (क्लिक करें)


(c) सर्वाधिकार सुरक्षित - रमेश जोशी । प्रकाशित या प्रकाशनाधीन ।
Ramesh Joshi. All rights reserved. All material is either published or under publication. Joshi Kavi

2 comments:

Mired Mirage said...

बिल्कुल सही कहा। थोड़ी और नैनो होती तो बैठक की ही शोभा बनती।
घुघूती बासूती

प्रकाश बादल said...

सस्ती कारें बन रही रोटी मंहगी हो रही, जनता रो रही । वाह वाह अँकल बढ़िया चौपाई।