Sunday, December 26, 2010

नौटंकी





(किसी भ्रष्ट को नहीं बख्शेंगे-मनमोहन, एन.डी.ए.की दिल्ली में महासंग्राम रैली-२२-१२-२०१०)

सब नौटंकी कर रहे, सभी बजाते गाल |
कहो हुआ किस भ्रष्ट का अब तक बाँका बाल |
अब तक बाँका बाल, बचाओगे तुम जिसको |
कल संकट आने पर वही बचाए तुमको |
जोशी मौसेरे भाइयों में रिश्तेदारी |
बेचारी जनता को पेलें बारी-बारी |

२३-१२-२०१०

पोस्ट पसंद आई तो मित्र बनिए (क्लिक करें)


(c) सर्वाधिकार सुरक्षित - रमेश जोशी । प्रकाशित या प्रकाशनाधीन । Ramesh Joshi. All rights reserved. All material is either published or under publication. Joshi Kavi

2 comments:

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

सटीक व्यंग ....

यहाँ आपका स्वागत है

गुननाम

परमजीत सिँह बाली said...

बहुत बढ़िया!